Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya | बिजली का आविष्कार किसने किया और कब किया?

आज हम इस आर्टिकल की मदद से Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya के बारे में जानेगे. बिजली का आविष्कार किसी जादू से कम नही है क्यूंकि बिजली के बिना आज कल कुछ भी संभव नही है.

हमारे देश की आर्थिक विकास के लिए बिजली का बहुत बड़ा योगदान रहा है, जहा कही भी देखो बिना बिजली के कुछ नही होता है और बिना बिजली के रहना भी संभव नही है. आज बिजली हमारे जीवन की एक विशेष आवश्कता बन गयी है लकिन यह किसी को नही पता है की बिजली का आविष्कार किसने किया और कब किया. अगर आपको इसके बारे में जानना है तो आप यह आर्टिकल अंत तक पढ़ कर पता लगा सकते है.

Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya – बिजली का आविष्कार किसने किया

बिजली का आविष्कार नही किया गया था यह तो प्रकृति पर पहले से ही उपलब्द थी. हम ऐसा बोल सकते है की बिजली की खोज कब हुई थी और किसने की थी तो चलिए जानते है. 600 ईसा पुर्व यूनान के रहने वाले थेल्स को यह अच्छी तरह से पता था की एम्बर (चिड के पेड़ का सुखा हुआ रस जिसे हम गुंद भी कह सकते है) को कपडे पर रगड़ने से वह सुखा हुआ रस उससे हलकी चीजों को अपनी और आकर्षित कर लेता था. इस गुंद को यूनानी में electron कहते थे और थेल्स ने इसपर रिसर्च करके इसका नाम Electricity दे दिया था.

600 ईसा पुर्व यूनान के रहने वाले थेल्स

सन 1700 तक electricity के समन्धित जैसे: Electricity में Positive और Negative करंट, Electrostatic Generator और Insulators, आदि की खोज हुई थी. इसके बाद सन 1752 में Benjamin Franklin ने साबित किया की आसमान में जो बिजली चमकती (lighting) है वह और जो बिजली की चिंगारी (Electric Spark) होती है यह दोनों एक ही है. सन 1800 में Italy के रहने वाले Physicist Alessandro Volta ने रिसर्च की और पाया chemical reaction से हम बिजली बना सकते है, और Alessandro Volta ने Voltaic Pile का आविष्कार किया जिसे हम बैटरी कहते है और यह Voltaic Pile लगातार बिजली उत्पाद कर सकती है.

सन 1831 में Electricity पर रिसर्च हुई और Michael Faraday ने Electric Dynamo का आविष्कार किया. इस Electric Dynamo में copper wire की coil लगी हुई थी और उस coil में एक magnet घुमती थी जिससे वह magnet थोड़ी मात्रा में बिजली पैदा करती थी. जब Electricity को बनाना आसान हो गया था तब बिजली से चलने वाली वस्तु जैसे: बल्ब, पंखे, फ्रिज, वाशिंग मशीन, आदि को आविष्कार होने लग गया था. जिससे Electricity ने एक बहुत ही बड़ा बदलाव लाके रख दिया और आज हर चीज़ बिजली से चलती है.

भारत में बिजली कब आई थी?

भारत में पहली बार बिजली सन 1879 में कोलकाता में आई थी. इसके बाद भारत में पहला बिजली बनाने वाली फैक्ट्री भी कोलकात्ता में सन 1899 में लगाई गयी थी, इस फैक्ट्री का नाम कोलकाता इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई कॉरपोरेशन था. इसके बाद में सन 1902 में मैसूर में जल विद्युत् केंद्र बनाया गया और फिर डीजल से बनाने वाली बिजली का उत्पादन दिल्ली में सन 1905 में शुरू किया गया था.

बिजली का आविष्कार किसने किया था?

बिजली का आविष्कार नही किया गया था क्यूंकि बिजली प्रक्रति पर पहले से ही उपलब्द थी. बिजली की खोज की गयी थी, बिजली की खोज थेल्स ने 600 ईसा पुर्व की थी.

भारत में पहली बार बिजली कब और कहा आई थी?

भारत में पहली बार बिजली सन 1879 में कोलकात्ता में आई थी.

Conclusion

आज हमने इस आर्टिकल की Bijli Ka Avishkar Kisne Kiya और बिजली के इतिहास के बारे में अच्छे से जाना है. आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो या फिर आपने इससे कुछ नया सिखा है तो आप अपने दोस्तों के साथ भी शेयर कर सकते है. अगर आपको ऐसा लगता है की मेने इस आर्टिकल में कुछ गलत जानकारी दी है तो आप कमेंट सेक्शन में बता सकते है.

यह भी जरुर पढ़े:

Hello, I'm Sudhir Pratap Singh, A Full-Time Blogger, Affiliate Marketer, and Founder of Hindi Grab.

Leave a Comment