Women’s Day Quotes in Hindi | अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस शायरी 2022

Women’s Day Quotes in Hindi: आज 8 मार्च 2022 है और आज International Women’s Day है, आज के दिन जायदातर लोग महिलाओ के प्रति समान व्यक्त करते है लकिन कुछ लोग ऐसे भी है जो आज के दिन भी महिलाओ इज्ज़त नही करते है उनको में सिर्फ यह कहना चाहूँगा की ” बेटी-बहु कभी माँ बनकर, सबके सुख-दुःख को सहकर, अपने सब फ़र्ज़ निभाती है, तभी तो नारी कहलाती है”.

ऐसे में आप आज ही नही बल्कि हमेशा अपनी करीबी महिलाओ को एक ख़ास शायरी या सन्देश भेज सकते है और उन्हें खुश रख सकते है, और “जिन लोगो को महिलाओ की इज्ज़त नही आती उनको महिलाओ की इज्ज़त भी सिखायेंगे, तभी तो हम भारतवासी कहलायेंगे”. हमारे भारत में हर महिलाओ को देवी के समान माना जाता है और महिलाओ के लिए संस्कृत में एक महतवपूर्ण श्लोक भी है “यस्य पूज्यंते नार्यस्तु तत्र रमन्ते देवता:” इसका मतलब है की जहा नारी की पूजा होती है वही देवता निवास करते है.

Women’s Day Quotes In Hindi – अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस शायरी

आप ईश्वर की एक
अनूठी रचना है 
आपके बिना 
हमारा वजूद नही होता
आपका धन्यवाद! 
औरते वो नही सुनना चाहती 
तो आप सोचते है 
औरते वो सुनना चाहती है 
जो वो सोचती है
समाज के डर से अपने 
अरमान को दबाए रखती है नारी,
अपनी इच्छाओ को छोड़
सबकी इच्छाओ का ख्याल रखती है नारी
बिना किसी स्वार्थ के 
आप पर प्यार लुटाती है,
वो नारी ही है 
जो आप पर दिल से 
अपना हक़ जताती है 
उसका दामन है बड़ा 
दिया उसने अपना प्यार सारा,
कहलाई वो स्त्री, कहलाई वो एक नारी,
बनकर एक आदर्श 
उसने किया जग ने उजियारा. 
महिला दिवस की हार्दिक बधाई 

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस शायरी

नारी एक मां है उसकी पूजा करो
नारी एक बहन है उसका स्नेह करो
नारी एक पत्नी है उसे प्रेम करो
नारी एक औरत है उसका सम्मान करो
हर दिन होना चाहिए नारी के नाम,
क्योंकि बिना रुके करती है वो हर काम
जहां होता है नारी का सम्मान, 
समझ लो वो स्थान है स्वर्ग के समान
मां है वो, बेटी है वो, बहन है वो तो कभी पत्नी है वो, 
जीवन के हर सुख दुःख में शामिल है वो शक्ति है वो, प्रेरणा है वो! 
नमन है उन सब नारियों को जीवन के हर मोड़ पर हमारा साथ देती हैं
वह जन्म देती है, वह मौत से बचाती है, 
वह आगे बढ़ाती है, वह औरत कहलाती है

Women’s Day Quotes in Hindi

कई जिम्मेदारियों के साथ वो भर रही है उड़ान, 
हर क्षेत्र में कर रही है वो अपना नाम,
बिना थके वो रख रही है सबका ध्यान,
हर घर की है वो आन, बान और शान,
वो नारी एक नारी है सबसे महान
आंचल में ममता लिए हुए,
नैनों से आंसु पिए हुए,
सौंप दे जो पूरा जीवन,
फिर क्यों आहत हो उसका मन
फूलों पर बरसती हूं, कभी सूरत-ए-शबनम, 
बदली हुई रुत में कभी सावन की झड़ी हूं
औरत हूं मगर सूरत-ए-कोहसार खड़ी हूं, 
इक सच के तहफ़्फ़ुज़ के लिए सब से लड़ी हूं
भेदभाव मिटायेंगे 
महिलाओ को समान से 
आगे बढना सिखायेंगे
नारी ही शक्ति है नर की,
नारी ही शोभा है घर की,
जब उसे उचित सम्मान मिले,
घर में खुशियों के फूल खिले

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस शायरी

मुस्कुराकर, दर्द भुलाकर
रिश्तों में बंध गई थी दुनिया सारी
हर पग को रोशन करने वाली 
वो शक्ति तुम्हीं हो नारी
नारी हु मै, दुर्गा हु मै,
और वक्त आने पर काली हु मै
दिन की रौशनी ख्वाबो को बनाने में गुज़र गयी, 
रात की नींद बच्चे को सुलाने में गुज़र गयी,
जिस घर में मेरे नाम की तख्ती भी नहीं,
सारी उम्र उस घर को सजाने में गुज़र गयी.
महिला दिवस की हार्दिक बधाई!
हे नारी तू सीता के मन में समाई,
तू राधा के मन में समाई,
साधु संत जिसे स्वर्ग कहते, 
तू धरती पर वही मुक्ति है
अपने हौसले से तकदीर को बदल दूं,
सुन ले दुनिया, हाँ मैं औरत हूं

धन्यवाद,

यह भी पढ़े:

Team, HindiGrab.in

Leave a Comment