Insulin Ki Khoj Kisne Ki | इन्सुलिन की खोज किसने की और कब की?

Insulin Ki Khoj Kisne Ki के बारे में जानने के लिए आपको यह आर्टिकल अच्छे से पढना होगा क्यूंकि और हम आज इन्सुलिन के बार में भी जानेगे की इन्सुलिन क्या है और इन्सुलिन किस काम आता है.

दोस्तों इस बढ़ते युग में बीमारिया भी बढती जा रही है लकिन दिक्कत तो इस बात की होती है की हम बहुत कम बीमारियों के बारे में जानते है और उनमे से भी कम बीमारियों की दवाई या इलाज उपलब्द है. इनमे से ही एक का नाम है diabetes इसका नाम तो आपने सुना ही होगा और आपको पता भी होगा की डायबिटीज क्यों होती है अगर नही पता है तो बता दू की डायबिटीज जायदा चीनी या मीठा खाने से होती है.

डायबिटीज एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है अगर यह लास्ट स्टेज पर पहुच जाए तो पर हां इसका इलाज भी उपलब्द है लकिन यह इलाज लास्ट स्टेज वालो के लिए जायदा काम नही कर पाता. अगर इसकी दवाई की बात करे तो उसे हम Insulin कहते है. वैसे Insulin हमारे शरीर में होता है लकिन जब लोग जायदा मीठा खाने लग जाते है तब इन्सुलिन की मात्रा हमारे शरीर में कम हो जाती है.

इंसुलिन अग्न्याशय (pancreas) द्वारा निर्मित एक आवश्यक हार्मोन है। इसकी मुख्य भूमिका हमारे शरीर में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करना है. Insulin हार्मोन के संतुलन में रहने से हमारा शरीर एक्टिव रहता है. हमारे शरीर को energetic बनाने के लिए शुगर (चीनी) की जरुरत होती है लकिन sugar (चीनी) कभी भी डायरेक्ट हमारे organ तक नही पहुच पाती इस लिए हमे Insulin हार्मोन की जरुरत होती है.

जब हम खाना खाते है तब बीटा सेल हमारे अग्न्याशय (pancreas) को सिग्नल देती है की अब insulin छोड़ दिया जाए जिससे हमारे द्वारा खाए हुए खाने से चीनी को निकाल कर शरीर के अन्य अंगो तक पहुचाया जा सके. लकिन जब बीटा सेल हमारे शरीर में खराब हो जाते है तब pancreas को सिग्नल नही मिल पाता जिससे pancreas इन्सुलिन को नहीं छोड़ता है. और हमारे द्वारा खाया हुआ खाना कभी भी शरीर के अन्य अंगो तक नही पहुच पता जिससे शरीर के अंग खराब होने लग जाते है और इससे diabetes की बीमारी होती है.

Diabetes की बीमारी को रोकने के लिए शरीर को इन्सुलिन के इंजेक्शन दिए जाते है जिससे खाने को इन्सुलिन अन्य अंगो तक पंहुचा पाए और यह इन्सुलिन का इंजेक्शन शरीर में लगभग 1 गंटे तक काम करता है यह अलग अलग इंजेक्शन पर निर्भर करता है की कोनसा इंजेक्शन कितने गंटे काम करता है. तो चलिए शुरू करते है और जानते है Insulin Ki Khoj Kisne Ki.

Insulin Ki Khoj Kisne Ki – Insulin की खोज किसने की और कब की

Insulin की खोज Canada के रहने वाले मेडिकल साइंटिस्ट Frederick Grant Banting के द्वारा सन 1921 में की गयी थी. इन्सुलिन की खोज करने पर Frederick Grant Banting और उनके साथी J.J.R Macleod को सन 1923 में मेडिकल साइंस में नोबल पुरस्कार दिया गया था.

Insulin Ki Khoj Kisne Ki

Insulin की खोज कैसे हुई

सन 1921 से पहले जिसको भी Diabetes होती थी तो वह सीधा डॉक्टर के पास जाता लकिन diabetes की बीमारी को देख कर कोई भी पता नही लगा पाता की यह बीमारी किस वजह से हो रही है और शरीर के कौनसे अंग से होती है. इसके बाद सन 1775 में Matthew Dobson नाम के व्यक्ति ने पता लगाया की diabetes के रोगियों का मूत्र मीठा ही नही बल्कि उनके रक्त में भी शुगर पाई जाती है और इससे यह बात तय हो गयी की डायबिटीज किडनी का रोग नही है अपितु यह शरीर के मेटाबोलिज्म और पाचन तंत्र का भी इससे समंध है.

सन 1889 में Oscar Minsky and Joseph Van Mering नाम के साइंटिस्ट ने यह पता लगाया की क्या कुता बिना अग्न्याशय (pancreas) के जिन्दा रह सकता है. फिर इन्होने एक कुते के अग्न्याशय को बहार निकाल दिया, कुता जिन्दा तो रहा लकिन उस कुते में diabetes की बीमारी के लक्षण दिखने लग गये थे और उस कुते का शरीर फैट और प्रोटीन भी नहीं पचा पा रहा था, इसे देख कर तय हो गया था की diabetes का इलाज अग्न्याशय (pancreas) में ही छुपा हुआ है.

सन 1901 में Eugene Lindsay OP नाम के व्यक्ति ने पता लगाया की डायबिटीज के मरीजो के अग्न्याशय के islet of langerhans (insulin) के कौसिका (cell) में डायबिटीज के बाद बदलाव आ जाता है. इस बात को मान कर Dr. George Ludwick Zeulzer ने सन 1908 में pancreas की दवाई तैयार की और इस दवाई को डायबिटीज के 8 मरीजो पर आजमा कर देखा की डायबिटीज में पहले से कुछ सुधार हुआ है लकिन इससे कुछ side effect भी हुए थे, जिससे उस दवाई को वही छोड़ना पड़ा.

इसके बाद इन्सुलिन बनानी की जिमेदारी Frederick Grant Banting and Herbert Best को दे दी गयी इसके बाद बहुत सी दवाई बने गयी लकिन उनके side effects भी होते थे. फिर और रिसर्च करने पर इन्सुलिन बनाया गया और यह इन्सुलिन 1922 में कुछ डायबिटीज के रोगियों पर आज़माया गया तो पता चला की डायबिटीज की बीमारी धीरे धीरे सही हो रही है.

इन्सुलिन की खोज कब हुई?

इन्सुलिन की खोज सन 1921 में हुई थी.

इन्सुलिन क्या है?

इंसुलिन अग्न्याशय (pancreas) द्वारा निर्मित एक आवश्यक हार्मोन है। इसकी मुख्य भूमिका हमारे शरीर में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करना है

इन्सुलिन की खोज किसने की थी?

इन्सुलिन की खोज Frederick Grant Banting ने की थी.

Conclusion

दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल की मदद से Insulin Ki Khoj Kisne Ki और Insulin की खोज कैसे हुई के बारे में बहुत अच्छे से जाने है. अगर आपको इस आर्टिकल से कुछ अच्छा सिखने को मिला है तो अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे

यह भी पढ़े:

Hello, I'm Sudhir Pratap Singh, A Full-Time Blogger, Affiliate Marketer, and Founder of Hindi Grab.

Leave a Comment