Train Ka Aaviskaar Kisne Kiya | Train का आविष्कार किसने किया और कब किया?

दोस्तों क्या आप भी जानना चाहते है की Train Ka Aaviskaar Kisne Kiya? अगर हां तो आप सही जगह आये हो क्यूंकि आज हम ट्रैन के बारे में जानेगे जैसे ट्रैन की खोज कब हुई, ट्रैन का किसने खोजा और बहुत कुछ.

Train आज इतना बढ़ा और सस्ता साधन है एक जगह तो दूसरी जगह जाने के लिए इसलिए इसका उपयोग करोडो लोग करते है. हमारे देश में ऐसा कोई भी नहीं है जिसने ट्रैन में सफर नहीं किया हो इसमें सफर करना बहुत आसान और आरामदायक है चाहे सफर कितना ही बड़ा या छोटा क्यों ना हो लकिन जायदातर लोग ट्रैन में ही सफर करना पसंद करते है.

ट्रैन में सफर करने के बाद में सबके मन के ख़याल आता है आखिर Train ka aaviskar kisne kiya aur kab kiya अगर आपके भी मन में यह ख़याल है तो बिना किसी देरी के शुरू करते है और जानते है.

Train का आविष्कार किसने किया और कब किया?

Train Ka Aaviskaar Kisne Kiya?

Train का आविष्कार UK के रहने वाले Richard Trevithick (रिचार्ड ट्रेवितथिक) ने किया था. Richard Trevithick एक ब्रिटिश मैकेनिकल इंजीनियर और आविष्कारक थे और इनका जन्म 13 अप्रैल 1771 कोर्नवॉल इंग्लैंड में हुआ था. Richard Trevithick ने 21 फरवरी 1804 में पहली बार ट्रैन चलाने की कोशिस की थी लकिन उस दौरान इनका यह आविष्कार कुछ कारणों के वजह से सफल नहीं हो पाया था.

जब 1804 में Richard Trevithick ने ट्रैन को चलाने की कोशिस की थी तब उनको देख कर कुछ इंजीनियर को motivation (प्रेरणा) मिली थी और इस वजह से वे इंजीनियर ट्रैन को बनाने की पूरी कोशिस करने लगे और ऐसे मेहनत करते करते दुनिया की पहली ट्रैन का आविष्कार 27 सितंबर 1825 में George Stephenson (जॉर्ज स्टेपहेंसन) द्वारा बनाई गयी George Stephenson भी मैकेनिकल इंजीनियर थे और इन्होने उस ट्रैन का नाम Locomotion No.1 (लोकोमोशन) रखा था.

Train का आविष्कार किसने किया और कब किया?

दुनिया की पहली ट्रैन का नाम क्या था?

यहाँ तक हमने जाना है Train का आविष्कार किसने और कब किया लकिन अब हम Duniya Ki Pehli Train Ki Jaankari लेंगे.

दुनिया की पहली ट्रैन का नाम Locomotion No.1 (लोकोमोशन) था जिसे George Stephenson द्वारा 27 सितंबर 1825 में बनाया गया था इतना तो हमने पहले ही जान लिया है लकिन अब हम लोकोमोशन ट्रैन के बारे में जानेगे.

Locomotion एक स्टीम ट्रैन थी और इसकी पहली यात्रा स्टॉकटन से डार्लिंगटन की थी और इसमें लगभग 38 डब्बे में 600 यात्रियों ने यात्रा की थी और इसकी स्पीड 24.1 Kmph की थी. जब लोकोमोशन स्टीम ट्रैन ने अपनी पहली यात्रा सफलतापूर्वक की थी तब George Stephenson लोगो से प्रसंसा मिली और उन्होंने अपनी पहली कंपनी की शुरआत अमरीका और इंग्लैंड में की थी.

Train का आविष्कार किसने किया और कब किया?

भारत में पहली ट्रैन कब और कहा चली थी?

भारत में पहली ट्रैन अंग्रेज़ो द्वारा चलाई गयी थी और इसे 16 अप्रैल 1853 में 35 किलोमीटर तक चलाई गयी थी जो की बोरीबन्दर से ठाणे तक का पहला सफर था और इसे 3:35 बजे बोरीबंदर से रवाना किया गया और 4:45 बजे तक यह ट्रैन ठाणे पहुंची थी. सबसे पहले भारत में कलकत्ता में ट्रैन कंपनी की इस्तापना हुई थी और उस कंपनी का नाम Great Indian Peninsula Train था और इस कंपनी ने 1850 में मुंबई बोरीबंदर से ठाणे तक रेलवे लाइन (पटरी) लगाई थी.

अब आपके मन में ख्याल आया होगा की यह ट्रैन इंडिया में कब बनाई गयी थी तो आपको बता दू की इस ट्रैन को ब्रिटैन से मंगाये गए 3 स्टीम इंजन से चलाया गया था और इन स्टीम इंजन का नाम सिन्धु, सुल्तान, और साहिब रखा गया था. भारत की पहली ट्रैन में कुल 400 यात्रियों ने सफर किया था और इस ट्रैन में कुल 20 डब्बे थे.

भारत में स्टीम इंजन कब बनने शुरू हुए थे?

भारत में सन 1856 में स्टीम इंजन बनने शुरू हुए थे.

भारत की सबसे पहली सुपर फ़ास्ट ट्रैन का नाम क्या था और कब चलाई गयी थी?

भारत की सबसे पहली सुपर फ़ास्ट ट्रैन का नाम राजधानी एक्सप्रेस था और इसे 3 March 1969 में दिल्ली से हावड़ा के बीच चलाई गई थी.

Conclusion

दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल में बहुत कुछ जाना है जैसे Train Ka Aaviskaar Kisne Kiya ?, भारत में सबसे पहली सुपर फ़ास्ट ट्रैन का नाम क्या था और बहुत कुछ, वैसे अब भारत का रेलवे नेटवर्क इतना बड़ा हो गया है की यह दुनिया के टॉप लिस्ट रेलवे नेटवर्क में भी आने लगा है.

अगर दोस्तों आपको ट्रैन के बारे में कोई और जानकारी चाइये तो आप मुझे कमेंट में बता सकते है और अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ नया सिखने को मिला है तो अपने दोस्तों तथा भाई बन्दुओ के साथ भी शेयर करे.

Other Links: 

Hello, I'm Sudhir Pratap Singh, A Full-Time Blogger, Affiliate Marketer, and Founder of Hindi Grab.

Leave a Comment