Archer Harvinder Singh Biography in Hindi | हरविंदर सिंह जीवनी 2021

Harvinder Singh Biography in Hindi, Archer Harvinder Singh की जीवनी हिंदी में, जानिए हरविंदर सिंह ने कितनी मुसीबतों का सामना किया.

Archer Harvinder Singh ने टोकयो पैरालम्पिक में शानदार प्रद्सन करके Bronze Medal अपने नाम पर करके भारत का नाम रोशन किया है, क्या आप हरविंदर सिंह के बारे में विश्तार से जानने के लिए उत्सुक है तो यह आर्टिकल अंत तक पढ़ते रहे और जानिए Harvinder Singh Biography in Hindi और कैसे हरविंदर सिंह टोकयो पैरालम्पिक में Bronze Medal जितने के काबिल हुए.

हरविंदर सिंह जीवनी – Harvinder Singh Biography in Hindi

Biography PointsBiography Details
नामहरविंदर सिंह धंजू
जन्म तिथि 25 फरवरी 1991
जन्म स्थान अजीतनगर, हरियाणा
उम्र 30 साल
माता पिता का नाम पिता: परमजीत सिंह (किसान)
माता: लेट हरभजन कौर
राष्ट्रीयता भारतीय
खेल तीरंदाज़
वैवाहिक स्थितिअविवाहित

Harvinder Singh हरियाणा के कैथल डिस्ट्रिक्ट के छोटे से गाँव अजीतनगर के रहने वाले एक भारतीय तीरंदाज़ है, और यह एक किसान परिवार से है जो को पैरालम्पिक इतिहास में तीरंदाज़ में Bronze Medal जितने वाले पहले भारतीय व्यक्ति है. अब अगर इनके बचपन की बात करे तो बता दू की हरविंदर सिंह का बचपन बहुत ही मुश्किलों से भरा गुज़रा था, क्यूंकि जब हरविंदर सिंह केवल डेढ़ साल के थे तब इनको डेंगू हो गया था, और डेंगू के इलाज के लिए इंजेक्शन लगाने पढ़ते थे और उन इंजेक्शन के साइड इफ़ेक्ट के कारण इनके पैर काम करने बंद कर दिए थे.

जैसे तैसे इन्होने अपनी पढाई पूरी की और फिर हरविंदर सिंह तीरंदाज़ में आ गये क्यूंकि इन्हें तीरंदाज़ बहुत अच्छा लगता था. फिर साल 2018 में हरविंदर सिंह ने पैरा एशियन खेल में Gold Medal अपने नाम किया, और अब आपके सामने टोक्यो पैरालम्पिक के तीरंदाज़ में Bronze Medal अपने नाम किया. अभी वर्तमान में हरविंदर सिंह पटियाला के पजांब यूनिवर्सिटी में अर्थशास्‍त्र (Economics) की पढाई कर रहे है.

हरविंदर सिंह खेल करियर पदक – Archer Harvinder Singh Sports Career Medals

  • 2016: रोहतक में राष्ट्रीय पैरा तीरंदाजी टूर्नामेंट में कांस्य पदक
  • 2018: इंडोनेशिया में आयोजित 2018 एशियन पैरा खेलों में स्वर्ण पदक
  • 2019: थाईलैंड में आयोजित एशियन पैरा तीरंदाजी चैंपियनशिप में कांस्य पदक
  • 2021: टोक्यो पैरालिंपिक में कांस्य पदक

यह भी पढ़े:

Hello, I'm Sudhir Pratap Singh, A Full-Time Blogger, Affiliate Marketer, and Founder of Hindi Grab.

Leave a Comment