Ramayan Kisne Likhi Thi | रामायण किसने लिखी थी?

रामायण हिन्दू धर्म की पौराणिक कथाओ में से एक है और क्या आपको पता है Ramayan Kisne Likhi Thi अगर नही पता है तो यह आर्टिकल आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है. क्यूंकि आज हम रामायण के बारे में बहुत कुछ जानेंगे जैसे: रामायण किसने लिखी और कब लिखी, रामायण में कितने कांड है और रामायण कितने साल पुराणी है आदि.

आपने टीवी में रामायण सीरियल तो देखा ही होगा यह रामायण सीरियल लॉकडाउन में सबसे जायदा देखे जाने वाला सीरियल था और इसको ही सबसे जायदा TRP मिली थी. आज भी लोग रामायण को देखने के लिए उत्सुक है, तो चलिए जानते है रामायण किसने लिखी थी?

Ramayan Kisne Likhi Thi | रामायण किसने लिखी और कब लिखी थी?

संस्कृत रामायण की रचना ६०० ईसा पुर्व महर्षि वाल्मीकि जी ने की थी. वाल्मीकि जी एक संस्कृत कवि थे और इनके द्वारा रची गयी रामायण का नाम वाल्मीकि रामायण था. रामायण और महाभारत हिन्दू धर्म की सर्वोच्च रचनाये है और रामायण में श्री राम जी के बारे में सब कुछ बताया गया है.

अब अगर हम बात करे की सबसे पहले रामायण किसने थी तो आपको बता दू की सबसे पहले रामायण हनुमान जी ने लिखी थी. जब श्री राम जी और रावन का युद्ध समाप्त हो गया था तब हनुमान जी शिव आराधना के लिए हिमालय पर चले गये थे और उस दौरान हनुमान जी ने अपने नाख़ून से हिमालय की शिलाओ पर श्री राम जी के कर्मो का उल्लेख करते हुए हनुमान जी ने हनुमद रामायण की रचना की थी.

जब महर्षि वाल्मीकि जी ने रामायण लिखी थी तब उन्होंने सोचा की यह रामायण की कथा को सबसे पहले भगवान् शंकर को भेट के रूप में दू. वाल्मीकि जी अपनी रामायण लेकर कैलाश पर्वत पहुचे और देखे की वहा पर पहले से ही हनुमद रामायण रखी हुई थी उसे देख कर महर्षि वाल्मीकि निराश हो गये, तब हनुमान जी ने वाल्मीकि जी से निराशा का कारन पूछा तो महर्षि वाल्मीकि जी बोले की मैंने कठीन परिश्रम से जो रामायण लिखी है वह हनुमद रामायण के सामने कुछ भी नही है और आने वाले समय में मेरी रचना उपेक्षित रह जायेगी.

इसके पश्चात हनुमान जी ने महर्षि वाल्मीकि जी की चिंता का समाधान निकाला और फिर हनुमान जी ने हनुमद रामायण की शिला को पर्वत से उठाकर अपने कंधे पर रखे और दुसरे कंधे पर महर्षि वाल्मीकि जी को बिठाया और समुन्द्र में गये और हनुमान जी ने हनुमद रामायण को समुन्द्र में अर्पित कर दिए. हनुमान जी का यह कार्य देख कर महर्षि वाल्मीकि जी बहुत खुश हुए और बोले की “आप धन्य है हनुमान” आप जैसा कोई दूसरा है ही नही और साथ में यह भी बोले की हनुमान की महिमा का गुणगान करने के लिए मैं एक और जन्म लूँगा.

रामायण में कितने काण्ड है?

रामायण में सात काण्ड है:

  1. बाल काण्ड
  2. अयोध्या काण्ड
  3. अरण्य काण्ड
  4. किसकिन्धा काण्ड
  5. सुन्दर काण्ड
  6. लंका/युद्ध काण्ड
  7. उत्तर काण्ड

रामायण में कितने श्लोक है?

रामायण में कुल 24000 श्लोक है.

रामायण में कितने उपखंड है?

रामयण में 500 उपखंड है.

रामायण का युद्ध कितने दिन चला था?

रामायण का युद्ध पूरे आठ दिन चला था, और यह युद्ध अश्विन शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को शुरू हुआ था और दशहरे के दिन यानी दशमी को रावण वध के साथ समाप्त हुआ था.

Conclusion

आज हमने इस आर्टिकल में रामायण के बारे में बहुत कुछ जाना है जैसे: Ramayan Kisne Likhi Thi, रामायण में कितने काण्ड है, रामायण का युद्ध कितने दिन चला था, रामायण में कितने उपखंड है, और रामायण में कितने श्लोक है आदि.

अगर मैंने इस आर्टिकल में कुछ गलत जानकारी दी है तो हमे कमेंट में जरुर बताये और अगर आज आपको कुछ नया सिखने को मिला है तो अपने दोस्तों और घरवालो के साथ जरुर शेयर करे. धनयवाद!

यह भी जरुर पढ़े:

Leave a Comment