Pregnancy Diet Chart in Hindi 2022 | गर्भवती आहार चार्ट हिंदी

Pregnancy Diet Chart in Hindi: प्रेगनेंसी के दौरान आप जो कुछ खाते है उसका असर सीधा आपके गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ता है इसलिए कहा जाता है की प्रेगनेंसी में महिला को सुध और सात्विक भोजन खाना चाहिए जो आपके शिशु को बढ़ने में मदद करे और शिशु तंदरुस्त हो.

प्रेग्नेंट महिला को खान पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए क्यूंकि गर्भ में पल रहे बच्चे को अच्छे खाने की जरुरत होती है जिससे उसका विकास अच्छा और स्वच्छ हो, लकिन जो महिला पहली बार प्रेग्नेंट हो रही है उन्हें इन सब चीजों का ध्यान नही रहता की प्रेगनेंसी में क्या क्या खाए और उन्हें गर्भवती आहार चार्ट के लिए डॉक्टर के पास जाना होता है.

प्रेगनेंसी के दौरान नाश्ता एक बहुत ही महतवपूर्ण भूमिका निभाता है क्यूंकि नाश्ता ही आपके दिन को अच्छा या बुरा बना सकता है क्यूंकि अगर कोई महिला अच्छा नाश्ता करे तो उन्हें पूरे दिन भारी, थका, और आलसी महसूस नही होगा और अगर कोई महिला सुबह ही अस्वच्छ या भारी नाश्ता कर ले तो उन्हें पूरे दिन नींद, थकान, भारी-भारी महसूस होगा जिससे पूरे दिन की दिनचर्या बिगड़ सकती है.

Pregnancy Diet Chart in Hindi – गर्भवती आहार चार्ट हिंदी

Pregnancy के दौरान महिला को स्वच्छ भोजन खाना चाहिए और किसी भी तरह का बाहर का खाना नही खाना चाहिए जैसे: पानिपुरी, आलुटिकी, बर्गर, पिज़्ज़ा, फ्राइज, कुरकुरे, चिप्स आदि कोई भी ऐसे फ़ास्ट फ़ूड नही खाना चाहिए. गर्भवती महिला जितना स्वच्छ खाना खाएगी बच्चा और माँ उतने ही स्वच्छ, तंदरुस्त, और हेल्थी रहेंगे. Pregnancy के दौरान महिला को जायदा से जायदा पानी या ज्यूस पीना चाहिए जिससे शरीर hydrate रहे, और चिन्नी के बजाय गुड का इस्तमाल करे अगर गुड नही खा सकते है तो आप चिन्नी कम ही इस्तमाल करे.

  • फल फ्रूट्स
  • ड्राई फ्रूट्स
  • दूध से बने उत्पाद
  • बीन्स और दाल
  • साबुत अनाज (गेहू, बाजरी, रागी, चावल, ज्वार, किनोआ, दलिया आदि)
  • हरी सब्जियाँ, सलाद

Morning Diet Plan For Pregnancy – गर्भावस्था में सुबह क्या खाना चाहिए?

  • दूध, दही, या छाछ
  • ड्राई फ्रूट्स
  • फल फ्रूट्स
  • पोहा
  • ओट्स (Oats)
  • पालक परांठा
  • हरी सब्जिया

1. दूध, दही, या, छाछ:
गर्भवती महिला को सुबह दूध पीना चाहिए क्यूंकि दूध में बहुत कैल्शियम होता है इससे बच्चे की हडिया मजबूत होती है अगर आप सुबह दूध नही पी सकते है तो दही या छाछ भी पी सकते है लकिन याद रखे दूध, दही, या छाछ साथ में ना पीये.

2. ड्राई फ्रूट्स:
प्रेगनेंसी के दौरान आप ड्राई फ्रूट्स खा सकते है क्यूंकि ड्राई फ्रूट्स में बहुत सारे पोषक तत्व होते है. ड्राई फ्रूट्स आप दूध के साथ भी खा सकते है.

3. फल फ्रूट्स:
गर्भावस्ता के दौरान आप सुबह खली पेट फल खा सकते है क्यूंकि फल में विटामिन ए, बी, सी, कैल्शियम, फाइबर, आयरन आदि जैसे कई पोषक तत्व होते है, लकिन याद रहे खली पेट आप खट्टे फल ना खाये जैसे, निम्बू, किवी, संतरा, आवला आदि क्यूंकि इनसे आपको एसिडिटी हो सकती है.

4. पोहा:
पोहा नाश्ते के लिए एक बहुत ही बेहतरीन भोजन है क्यूंकि पोहे हलके और पोषक तत्वों के भरपूर होते है, पोहे में आप हरी सब्जी जैसे पालक, टमाटर, आलू, पता गोबी, पालक, आदि कई सज्ब्जिया मिला के खा सकते है.

5. ओट्स (Oats):
ओट्स बहुत ही हेल्थी नाश्ता होता है इसमें प्रोटीन की अच्छी मात्रा होती है, ओट्स आप दूध के साथ खा सकते है या फिर मिल्क सेक बना कर ओट्स डाल कर खा सकते है.

6. पालक परांठा:
अगर आपका पेट पोहे, दूध, ओट्स, आदि से ना भरे तो आप नाश्ते में एक या दो पालक परांठा भी ले सकते है. क्यूंकि पालक में प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, आदि पोषक तत्व होते है जो माँ और बच्चे दोनों के लिए बहुत फायदेमंद है. पालक परांठा के साथ आप दाह दही भी खा सकती है लकिन याद रखे दही खाने से पहले या बाद में दूध ना पीये.

Lunch Diet Plan For Pregnancy – गर्भावस्था में दोपहर क्या खाना चाहिए?

दोपहर के खाने में आप रोटी, दाल, हरी सब्जियाँ का उपयोग कर सकते है, यह सब्जियाँ सही मात्रा में पोषक तत्व प्रदान करंगे. सब्जी या दाल में जायदा तेज़ मसाले का इस्तमाल ना करे जैसे मिर्ची, हल्दी, लौंग, लशन, धनिया, हिंग, तेज़ पत्ते आदि और शुद्ध व् स्वच्छ तेल का इस्तमाल करे जैसे: सरसों का तेल, चावल की भूसी का तेल, जैतून का तेल आदि.

खाने के साथ आप सलाद खा सकते है इससे भी आपको कई पोषक तत्व मिलेंगे, खाने में आप दही छाछ, लस्सी आदि पी सके है शरीर को ठंडा रखने के लिए, और पनीर भी खा सकती है पनीर से आप कई चीज़े बना कर खा सकते है जैसे: मटर पनीर, कोप्ता पनीर, कड़ाई पनीर आदि.

  • दाल, हरी सब्जियाँ, पनीर इत्यादि
  • रायता, दही, छाछ, लस्सी
  • चावल, जीरा चावल, ब्राउन चावल, खिचड़ी, राजमा चावल
  • सलाद, हरी सब्जियाँ, फल फ्रूट्स

गर्भावस्ता के दौरान शाम को क्या खाना चाहिए?

गर्भावस्ता में बार-बार भूख लगना सामान्य बात है, क्यूंकि गर्भावस्ता के दौरान आपके शरीर को जायदा उर्जा, प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन आदि जैसे पोषक तत्व की जरुरत होती है जिससे पेट में पल रहे बच्चे तक सही मात्रा में पोषक तत्व मिलते रहे.

गर्भावस्ता के दौरान आपको दिन में भारी खाना खाने के बजाय 4 से 5 बार हल्का भोजन करना चाहिए, क्यूंकि भारी खाने से पूरे दिन भर आलस, नींद आदि आ सकती है.

  • ड्राई फ्रूट्स (बादाम, काजू, पिस्ता, किसमिस, अखरोट)
  • फल फ्रूट्स व् ताज़ा फलो का ज्यूस
  • गुड से बना हुआ हलवा
  • दलिया

Dinner Diet Plan For Pregnancy – गर्भावस्था में रात को क्या खाना चाहिए?

गर्भवती महिला को रात में हल्का खाना खाने की सलाह दी जाती है जिससे खाना जल्दी पच जाए और गर्भवती महिला को अच्छी नींद आये क्यूंकि नींद बहुत जरुरी है वो भी अच्छी मात्रा में

  • दाल चावल, राजमा चावल
  • दाल, हरी सब्जी, रोटी, सलाद
  • फल फ्रूट
  • छाछ, दही, रायता
  • गुड से बना हुआ कोई भी हलवा

प्रेगनेंसी में कितनी कैलोरी की जरुरत होती है?

अगर आप अंदाज़ा नही लगा पा रहे है की आप को एक दिन में कितनी कैलोरी लेनी चाहिए तो आप डॉक्टर से सलाह ले सकते है. वैसे डॉक्टर का कहना है की लगभग 50 से 55 किलो की महिला को रोजाना 1900 से 2000 तक कैलोरी लेनी चाहिए और प्रेग्नेंट महिला को 2200 से 2300 तक कैलोरी रोज़ लेनी चाहिए.

पोषक तत्व सामान्य महिला के लिए प्रेग्नेंट महिला के लिए
प्रोटीन50 ग्राम रोज़65 ग्राम रोज़
कैल्शियम 400 मिलीग्राम रोज़ 1000 मिलीग्राम रोज़
आयरन 30 मिलीग्राम रोज़ 40 मिलीग्राम रोज़
आयोडीन 100 – 200 माइक्रोग्राम रोज़ +25 माइक्रोग्राम रोज़
फोलिक एसिड100 माइक्रोग्राम रोज़ 400 माइक्रोग्राम रोज़

Pregnant महिला को कितने घंटे सोना चाहिए?

Pregnant महिला को रात में 7 से 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए, अगर नीदं की कमी हो तो बच्चे के विकास में प्रभाव पड़ सकता है. पूरे दिन बिस्तर पर न लेटे यह शिशु के स्वास्थ के लिए हानिकारक है.

गर्भावस्था के दौरान रोने से बच्चे पर क्या असर पड़ता है?

यदि गर्भवती महिला बहुत अधिक चिंता करना और रोती है, तो इसका बच्चे पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है.

Pregnancy में बाहर का खाना या फ़ास्ट फ़ूड खा सकते है?

नही, Pregnancy में बाहर का खाना नही खा सकते क्यूंकि वह खाना अस्वच्छ होता है और इसमें बहुत तेज़ मसालों का उपयोग होता है.

यदि प्रेगनेंसी से जुड़ा कोई भी सवाल पूछना चाहते है तो कमेंट में पूछ सकते है. धन्यवाद!

यह भी पढ़े:

Team: HindiGrab.in

Leave a Comment